Navkar Mantra Lyrics : Meaning and Significance

Navkar Mantra Lyrics Meaning and Significance

The Navkar Mantra, a sacred Jain invocation, holds profound meaning and significance. Let’s delve into its essence.

Navkar Mantra Lyrics

The Navkar Mantra, also known as the Namokar Mantra, is recited with deep reverence by Jains worldwide. The mantra goes as follows:

  • Namo Arihantanam – I bow to Arihants, conquerors of inner enemies.
  • Namo Siddhanam – I bow to Siddhas, liberated souls who have attained salvation.
  • Namo Ayariyanam – I bow to Acharyas, spiritual leaders who guide us.
  • Namo Uvajjhayanam – I bow to Upadhyayas, teachers of Jain scriptures.
  • Namo Loye Savva Sahunam – I bow to all Sadhus and Sadhvis, who renounce worldly life for spiritual upliftment.

Navkar Mantra Meaning

The Navkar Mantra is a profound salutation that destroys all sins and embodies the most auspicious blessings. Let’s understand its deeper meanings:

ARIHANTAS

Arihantas are conquerors of inner enemies such as anger, ego, deception, and greed. By overcoming these, they achieve perfection and destroy the four types of karmas that obstruct enlightenment.

SIDDHAS

Siddhas are liberated souls who have attained Moksha, the ultimate freedom from the cycle of birth and death. They are free from all karmas and reside in a state of eternal bliss.

ACHARYAS

Acharyas are spiritual leaders who disseminate the teachings of Jainism. They possess deep knowledge of Jain scriptures and guide others on the path of spirituality.

UPADHYAYAS

Upadhyayas are scholars who specialize in Jain scriptures and philosophy. They impart knowledge to monks and nuns, facilitating their spiritual growth.

SADHUS AND SADHVIS

Sadhus and Sadhvis are monks and nuns who renounce worldly life for spiritual pursuits. They adhere to five major vows of non-violence, truth, non-stealing, celibacy, and non-possessiveness.

Conclusion

The Navkar Mantra encompasses reverence for Arihants, Siddhas, Acharyas, Upadhyayas, Sadhus, and Sadhvis. By reciting this mantra, Jains express devotion and seek blessings for spiritual growth and purification.

नवकार मंत्र की लिरिक्स इन हिंदी : अर्थ और महत्व की समझ

नवकार मंत्र, एक पवित्र जैन आवाजन है, जिसका महत्व अत्यंत गहरा है। चलो, इसकी मूल भावना में समाहित हों।

नवकार मंत्र शब्द

नवकार मंत्र, जिसे नमोकार मंत्र भी कहा जाता है, को जैन धर्म के सभी कोनों में गहरी श्रद्धा के साथ पढ़ा जाता है। मंत्र इस प्रकार है:

  • नमो अरिहंताणं – मैं अरिहंतों को प्रणाम करता हूँ, अंतर्नाशकों को जीतने वालों को।
  • नमो सिद्धाणं – मैं सिद्धों को प्रणाम करता हूँ, जो मोक्ष को प्राप्त हो चुके हैं।
  • नमो आयरियाणं – मैं आचार्यों को प्रणाम करता हूँ, जो हमें मार्गदर्शन करते हैं।
  • नमो उवज्झायाणं – मैं उपाध्यायों को प्रणाम करता हूँ, जो जैन शास्त्रों का शिक्षक हैं।
  • नमो लोए सव्व साहूणं – मैं सभी साधुओं और साध्वियों को प्रणाम करता हूँ, जो जीवन को त्यागकर आध्यात्मिक उन्नति की ओर बढ़ते हैं।

नवकार मंत्र का अर्थ

नवकार मंत्र एक गहन प्रणाम है जो सभी पापों को नष्ट करता है और सभी शुभ वस्तुओं में से सबसे प्रसन्न को व्यक्त करता है। इसके गहन अर्थों को समझें:

अरिहंत

अरिहंत अंतर्नाशकों के विजेता होते हैं जैसे क्रोध, अहंकार, छल और लोभ। इन्हें जीतकर वे संपूर्ण ज्ञान को प्राप्त करते हैं और चार प्रकार के कर्मों को नष्ट करते हैं जो आत्मसाक्षात्कार में बाधा डालते हैं।

सिद्ध

सिद्ध होने वाले आत्माएं मोक्ष को प्राप्त कर चुकी होती हैं। वे सभी कर्मों से मुक्त होते हैं और नित्य आनंद की अवस्था में निवास करते हैं।

आचार्य

आचार्य जैन धर्म के गुरु होते हैं जो जैन शास्त्रों की शिक्षा देते हैं और अन्यों को आध्यात्मिक मार्ग पर मार्गदर्शन करते हैं।

उपाध्याय

उपाध्याय वे विद्वान होते हैं जो जैन शास्त्रों और दर्शनों का विशेषज्ञ होते हैं और साधुओं और साध्वियों को शिक्षा देते हैं।

साधु और साध्वी

साधु और साध्वी वे मोनक और मोनिका होते हैं जो आध्यात्मिक उन्नति के लिए धार्मिक जीवन को त्यागते हैं। वे अहिंसा, सत्य, अस्तेय, ब्रह्मचर्य और अपरिग्रह के पाँच प्रमुख व्रतों का पालन करते हैं।

निष्कर्ष

नवकार मंत्र अरिहंतों, सिद्धों, आचार्यों, उपाध्यायों, साधुओं, और साध्वियों के प्रति श्रद्धा का प्रतीक है। इस मंत्र को पढ़कर जैन धर्मी व्यक्ति अपनी भक्ति व्यक्त करते हैं और आत्मिक उन्नति और शुद्धि के लिए आशीर्वाद मांगते हैं।

Looking for more Jain bhajan lyrics? Explore a wide collection of devotional songs on our site. Delve deeper into the spiritual journey with our diverse selection of Jain bhajans.

Author: Admin
Jain Sattva writes about Jain culture. Explore teachings, rituals, and philosophy for a deeper understanding of this ancient faith.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *